आतंक की क्रियाएं
इनके बारे में जानकारी ...

USO क्लब पर बम फेंका जाना

नेपल्स, इटली | 14 अप्रैल 1988

14 अप्रैल 1988 को नेपल्स, इटली में USO क्लब के सामने एक कार बम का विस्फोट हो गया। इस विस्फोट में पांच लोगों की जान चली गई जिनमें एक यू.एस. सैनिक भी शामिल थी, और 15 लोग घायल हो गए, जिनमें चार यू.एस. सैनिक शामिल थे। जैपनीज रेड आर्मी (JRA) आतंकवादी ग्रुप के एक सदस्य जन्जो ओकूडेपरा को नेपल्स की बमबारी के लिए 9 अप्रैल 1993 को युनाइटेड स्टेट्स में आरोपी ठहराया गया। ओकूडेयरा जून 1987 की कार बमबारी और रोम में यू.एस. दूतावास के विरुद्ध तोप संबंधी हमले में भी संदिग्ध व्यक्ति है।

जापानी कम्युनिस्ट लीग – रेड आर्मी दल से अलग हो जाने के बाद 1970 के दर्शक में JRA बना। अपनी सफलता के सर्वोच्च शिखर पर इस संगठन में 40 सदस्य थे और इसे विश्व में सबसे सशस्त्र वाम ग्रुपों में से एक समझा जाता था। 1970 के दशक में JRA ने विश्व भर में हमलों की एक श्रृंखला को कार्यान्वित किया जिसमें इजराइल में 1972 लॉड एयरपोर्ट कत्ले-आम, दो जापानी एयरलाइनर के अपहरण और कुआलालम्पूर में यू.एस. दूतावास पर अधिकार करने के प्रयास शामिल थे।

JRA का ऐतिहासिक लक्ष्य रहा है जापानी सरकार और राजशाही को पलट देना, हालांकि इस ग्रुप के नेता को 2000 में गिरफ़्तार कर लिया गया और अगले वर्ष इस ग्रुप ने विसंगठित हो जाने की अपनी योजनाओं की घोषणा कर दी। इस संगठन के पैलेस्तीनियन आतंकवादी ग्रुपों के साथ निकटवर्ती संबंधों के इतिहास के कारण बहुत लोग समझने लगे कि JRA सत्ता संरचना मिडल ईस्ट में चली गई है।

रिवॉर्ड्ज़ फॉर जस्टिस (न्याय के लिए पुरस्कार) प्रोग्राम ऐसी जानकारी के लिए $5 मिलियन तक का पुरस्कार पेश कर रहा है जिससे इस हमले के लिए ज़िम्मेदार लोगों को कैद करके उन पर कानूनी कार्यवाही की जा सके।