सफलता की कहानी

टोटिंग क्रैफट हैनो

अपराधी ठहराए गए

टोटिंग क्रैफट हैनो अबु सैय्यफ ग्रुप का एक सदस्य है जिसने मई 2001 के डॉस पामस अपहरण घटना में भाग लिया था।

27 मई 2001 को ASG ने फिलिपीन्स में पलावन पर डॉस पालमस रिसोर्ट से तीन अमरीकी नागरिकों का अपहरण किया। तीन अमरीकियों को गिलरमो सोबेरो और एक अमरीकी मिशनरी दम्पति मार्टिन और ग्रेशिया बर्नहैम के रूप में पहचाना गया। 11 जून 2001 को ASG प्रवक्ता अबु सबाया ने दावा किया कि उसने फिलिपीन्स के राष्ट्रपति ग्लोरिया मैकापाबल-अरोयो के लिए एक “जन्मदिन उपहार” के रूप में गिलरमो सोबेरो को फांसी दी थी। 7 अक्तूबर 2001 को बसिलन द्वीप से एक मानव खोपड़ी मिली जो गिलरमो सोबेरो की पाई गई। जून 2002 में मार्टिन बर्नहैम फिलिपिनो सैनिकों और ASG के बीच गोलीबारी में मारा गया, ग्रेशिया बर्नहैम घायल हो गई लेकिन उसे बचा लिया गया और उसके देश, युनाइटेड स्टेट्स वापस भेज दिया गया।

ऐसी जानकारी, जिसके फलस्वरूप 6 जनवरी 2005 को हैनो को गिरफ़्तार कर लिया गया, के लिए $100,000 की रकम का भुगतान किया गया।