आतंक की क्रियाएं
इनके बारे में जानकारी ...

2008 मुम्बई पर हमले

मुम्बई, भारत | 26 -29 नवम्बर, 2008

26 नवंबर, 2008 से आरंभ करते हुए और 29 नवंबर, 2008 तक जारी रखते हुए पाकिस्तान स्थित विदेशी आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा (LeT) द्वारा प्रशिक्षित दस आक्रमणकारियों ने ताज महल होटल, ओबराय होटल, लियोपोल्ड कैफे, नैरीमन (चाबाड) हाउस और छत्रपति शिवाजी टर्मिनस ट्रेन स्टेशन सहित मुंबई, भारत में बहुत से ठिकानों पर अनेक समन्यवित हमले किए और लगभग 170 व्यक्तियों को मौत के घाट उतार दिया।

तीन दिन के घेरे के दौरान छह अमेरिकियों की मौत हुई थी: बेन ज़ियोन क्रोमैन, गेवरियल होल्टज़बर्ग, संदीप जेसवानी, एलन श्कर, उनकी पुत्री नाओमी श्कर और आर्ये लेबिश टेटेलबॉम।

रिवार्ड्स फॉर जस्टिस कार्यक्रम इन हमलों के लिए ज़िम्मेदार व्यक्तियों के बारे में सूचना देने के लिए 5 मिलियन डॉलर तक का इनाम दे रहा है। इस जघन्य षड्यंत्र के प्रमुख सदस्य अभी भी आज़ाद घूम रहे हैं और यह जाँच-पड़ताल सक्रिय और जारी है। यह पुरस्कार पेशकश किसी भी ऐसे व्यक्ति पर लागू होती है जो आतंक के इस कृत्य की ज़िम्मेदारी लेता है।

डेविड कोलमैन हैडली और तहाव्वुर राणा को LeT से संबंधित आतंकवादी गतिविधियों में उनके द्वारा सहायता किए जाने के लिए एक संघीय न्यायालय ने दोषी ठहराया। जनवरी, 2013 में हैडली जो आंशिक रूप से पाकिस्तानी मूल का अमेरिकी निवासी है, को मुंबई, भारत में नवंबर, 2008 के आतंकवादी हमलों की योजना बनाने और बाद में डेनमार्क में एक समाचार पत्र पर प्रस्तावित हमले में उसकी भूमिका से संबंधित एक दर्जन संघीय आतंकवाद अपराधों के लिए 35 वर्ष के कारावास की सज़ा सुनाई गई। उसने मार्च, 2010 में अपने विरुद्ध सभी 12 आरोपों के लिए स्वयं को दोषी घोषित किया जिनमें छह अमेरिकी पीड़ितों की हत्या में सहायता करना और इसके लिए उकसाना शामिल है। हैडली को इन कृत्यों के लिए दोषी ठहराया गया: भारत में सार्वजनिक स्थानों पर बम विस्फोट करने के लिए षड्यंत्र करना; भारत में व्यक्तियों की हत्या करने और उन्हें अपंग बनाने के लिए षड्यंत्र करना; भारत में अमेरिकी नागरिकों की हत्या में सहायता करने और इसके लिए उकसाने के छह आरोप; भारत में आतंकवाद के लिए सामग्री की सहायता प्रदान करने के लिए षड्यंत्र करना; डेनमार्क में व्यक्तियों की हत्या करने और उन्हें अपंग बनाने के लिए षड्यंत्र करना; और LeT को सामग्री की सहायता प्रदान करने के लिए षड्यंत्र करना। राणा, जो कनाडा का एक नागरिक था और लंबे समय से हैडली का दोस्त था, को डेनमार्क में आतंकवादी षड्यंत्र के लिए सामग्री की सहायता प्रदान करने और LeT को सामग्री की सहायता प्रदान करने के लिए 14 वर्ष के कारावास की सज़ा सुनाई गई। जून, 2011 में राणा को मुंबई में नवंबर, 2008 के आतंकवादी हमलों के लिए सामग्री की सहायता प्रदान करने के षड्यंत्र से दोष मुक्त कर दिया गया लेकिन उसे एक डेनिश समाचार पत्र के विरुद्ध आतंकवादी षड्यंत्र में शामिल होने और LeT को सामग्री की सहायता प्रदान करने का दोषी ठहराया गया।

निम्नलिखित संदिग्धों को भी किसी अमेरिकी संघीय न्यायालय में दोषी ठहराया गया है:

 

  • साजिद मीरइसने डेविड हैडली और उन अन्य व्यक्तियों के लिएहैंडलरके रूप में कार्य किया जिन्हें LeT की ओर से आतंकवादी हमलों की योजना बनाने, इनके लिए तैयारी करने और इन्हें अंजाम देने से संबंधित कार्य करने का निर्देश दिया गया था
  • मेजर इक़बालपाकिस्तान निवासी जिसने LeT द्वारा किए गए हमलों की योजना बनाने और इनके लिए धन उपलब्ध कराने में भाग लिया
  • अबु कहाफा – LeT से जुड़ा पाकिस्तान निवासी जिसने आतंकवादी हमलों में उपयोग के लिए अन्यों को युद्ध तकनीकों में प्रशिक्षित किया
  • मज़हर इक़बाल, उर्फ़ अबु अलकामापाकिस्तान निवासी और एक LeT कमांडर

की अतिरिक्त फोटो

Mumbai Attacks - English PDF
Mumbai Attacks - Baluchi PDF
Mumbai Attacks - Hindi PDF
Mumbai Attacks - Pashto PDF
Mumbai Attacks - Urdu PDF