वॉन्टेड
जानकारी जो न्याय तक पहुंचाती है...

हमद अल खैरी

$5 मिलियन तक पुरस्कार

हमद अल खैरी आंतकवादी समूह पश्चिम अफ्रीका में एकता और जेहाद के लिए गतिविधियों (MUJWA, साथ ही MUJAO और TWJWA के नाम से जाना जाता है) का नेता और एक संस्थापक सदस्य है। खैरी के नेतृत्व में, MUJWA के सदस्यों ने अपहरण संचालन, आंतकवादी हमले और विदेशी राजदूतों के अपहरणों जैसी कार्रवाईयों को अंजाम दिया है। खैरी ने माली से अप्रैल 2012 में सात अल्जीरियन राजदूतों के अपहरण की जिम्मेदारी का दावा किया है और वह MUJWA वीडियो में उन लोगों के खिलाफ धमकियाँ देता नज़र आया जो संगठन के खिलाफ़ हैं। जनवरी 2012 में, खैरी ने यह घोषित किया कि MUJWA का उद्देश्य “पूरे पश्चिमी अफ्रीका में शरिया कानून लागू करना है।”

MUJWA में अपने नेतृत्व के पद से पहले, खैरी AQIM का एक सदस्य था, जो कि मॉरिटेनिया के खिलाफ़ आंतकवादी संचालनों की योजना बना रहा था। अक्टूबर 2011 में, खैरी ने अल्जीरिया में तीन यूरोपियन सहायता कर्मचारियों के अपहरण का आदेश दिया जिसमें गोलीबारी में दो व्यक्ति घायल हो गये। खैरी को 07 दिसम्बर 2012 को कार्यकारी आदेश 13224 के आधार पर एक आंतकवादी नामित किया गया।

MUJWA में अपने नेतृत्व के पद से पहले, खैरी AQIM का एक सदस्य था, जो कि मॉरिटेनिया के खिलाफ़ आंतकवादी संचालनों की योजना बना रहा था। अक्टूबर 2011 में, खैरी ने अल्जीरिया में तीन यूरोपियन सहायता कर्मचारियों के अपहरण का आदेश दिया जिसमें गोलीबारी में दो व्यक्ति घायल हो गये। खैरी को 07 दिसम्बर 2012 को कार्यकारी आदेश 13224 के आधार पर एक आंतकवादी नामित किया गया।