वॉन्टेड
जानकारी जो न्याय तक पहुंचाती है...

हाफ़िज मोहम्मद सईद

$10 मिलियन तक पुरस्कार

हाफ़िज मोहम्मद सईद अरेबिक और इंजीनियरिंग का एक प्रोफेसर है, और साथ ही साथ जमात-उद-दावा, एक कट्टरपंथी एहल-ए-हादिथ इस्लामिक संगठन जो भारत और पाकिस्तान के कुछ हिस्सों में इस्लामिक नियम लागू करने के प्रति समर्पित है, और इसकी सेना की ब्रांच, लश्कर-ए-तैयबा का संस्थापक सदस्य भी था। सईद पर अनगिनत आतंकवादी हमलों का मास्टर माइंड होने का शक है, जिसमें मुम्बई का 2008 का हमला, जिसके कारण 166 लोगों की मृत्यु हुई जिसमें छह अमेरिकी नागरिक भी शामिल थे।

भारत गणराज्य ने सईद के 2008 में मुम्बई आतंकवादी हमलों में उसकी भूमिका के लिए एक इंटरपोल रेड कार्नर नोटिस जारी किया है। साथ ही, अमेरिका के ट्रेजरी विभाग ने कार्यकारी आदेश 13224 के तहत सईद को एक विशेष रूप से नामित राष्ट्रीय घोषित किया है। सईद को युनाइटेड नेशंस द्वारा दिसम्बर 2008 में UNSCR 1267 नामित व्यक्ति घोषित किया गया है।

लश्कर-ए-तैयबा को दिसम्बर 2001 में एक विदेशी आतंकवादी संगठन घोषित किया गया था। अप्रैल 2008 में, अमेरिका ने जमात-उद-दावा को एक विदेशी आतंकवादी संगठन घोषित किया; उसी तरह युनाइटेड नेशंस ने दिसम्बर 2008 में जमात-उद-दावा को एक आतंकवादी संगठन घोषित किया।