वॉन्टेड
जानकारी जो न्याय तक पहुंचाती है...

अबु मोहम्मद अल-शिमाली (Abu-Muhammad al-Shimali)

$5 मिलियन तक पुरस्कार

इराक और लेवांत के वरिष्ठ इस्लामी राज्य (ISIL) के बार्डर चीफ़ तिराद अल-जरबा, जो अबू मोहम्मद अल-शमाली के नाम से विख्यात है, वह ISIL के साथ संबंधित रहा है, जिसे पहले 2005 से इराक में अल-कायदा इन ईरान के नाम से जाना जाता था। वह ISIL की प्रवासन और रसद समिति में एक महत्वपूर्ण अधिकारी के रूप में कार्य करता है, और मुख्य रूप से गाज़ियांटैप, टर्की के माध्यम से और फिर ISIL नियंत्रित जाराबुलुस, सीरिया के सीमावर्ती शहर तक विदेशी आतंकवादी सेनानियों की यात्रा को सुगम बनाने के लिए जिम्मेदार है। अल-शामाली और प्रवासन और रसद समिति तस्करी की गतिविधियों, वित्तीय हस्तांतरण, और यूरोप, उत्तरी अफ्रीका और अरब प्रायद्वीप से सीरिया और इराक में रसद के आने-जाने का समन्वय करती हैं। 2014 में, अल-शामाली ने ऑस्ट्रेलिया, यूरोप, और मध्य पूर्व से भावी ISIL सेनानियों की तुर्की से सीरिया की यात्रा को समन्वयित किया और अज़ाज़, सीरिया में नये रंगरूटों के लिए ISIL के प्रसंस्करण केन्द्र का प्रबंधन किया।

संयुक्त राज्य अमेरिका और 60 से अधिक अंतरराष्ट्रीय भागीदारों का वैश्विक गठबंधन ISIL को नष्ट करने और अंतत: उसे हराने के लिए प्रतिबद्ध हैं। इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए विविध, परस्पर प्रयास की तर्ज मजबूत करने की जरूरत है। गठबंधन की कोशिशों में से एक मुख्य विदेशी आतंकवादी लड़ाकूओं के प्रवाह को जड़ से उखाड़ना है। यह दृष्टिकोण होमलैंड सिक्योरिटी, कानून प्रवर्तन विभाग, न्याय विभाग, खुफिया, कूटनीतिक, सैन्य, क्षमता निर्माण, और जानकारी प्रयासों को साझा करने को साथ लाता है।

100 से अधिक देशों से 25,000 से अधिक विदेशी आतंकवादी लड़ाकू इराक और सीरिया में यात्रा की है। इराक और सीरिया में लड़ाई का मैदान विदेशी आतंकवादी लड़ाकूओं को अनुभव, हथियारों और विस्फोटकों का प्रशिक्षण, और आतंकवादी नेटवर्क के उपयोग तक पहुंच प्रदान करता है जो ऐसे हमलों की योजन बना रहे हो सकते हैं जो पश्चिम को निशाना बनाते हों। साझा विदेशी आतंकवादी लड़ाकूओं के खतरे ने अमेरिका की संघीय एजेंसियों और अंतरराष्ट्रीय भागीदारों के बीच और भी घनिष्ठ सहयोग को बढ़ावा दिया है जो लड़ाकूओं के प्रवाह को बाधित करने के लिए और अंततः ISIL हराने के लिए सभी उपलब्ध साधनों का लाभ उठाएगा।